સૂરજ થઈને તમે આવો,…

ચિત્ર

મિત્રો, આપ સમક્ષ રજુ કરુ છું મારી લીધેલી તસ્વીર સાથે એક મુક્તક. આશા છે આપને ગમશે.

-દિલીપ ગજજર.

muktak Surajthaine

Advertisements

ये रातें, ये मौसम,….

प्यारे दोस्तों आपके सामने एक हिंदी युगल गीत पेश करता हुँ आशा है पसंग आयेगा

Ye Raate Ye Mosam Nadi ka kinara

Cover by Dilip Gajjar and Chetu Ghiya Shah

Film: Dilli Ka Thug,(1958) Singer: Kishor Kumar & Asha Bhonsle, Lyrics: Shailendra, Music by Ravi

ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा
कहा दो दिलों ने, के मिलकर कभी हम ना होंगे जुदा

ये क्या बात है, आज की चाँदनी में
के हम खो गये, प्यार की रागनी में
ये बाहों में बाहें, ये बहकी निगाहें
लो आने लगा जिंदगी का मज़ा

सितारों की महफ़िल नें कर के इशारा
कहा अब तो सारा, जहां है तुम्हारा
मोहब्बत जवां हो, खुला आसमां हो
करे कोई दिल आरजू और क्या

कसम है तुम्हे, तुम अगर मुझ से रूठे
रहे सांस जब तक ये बंधन ना टूटे
तुम्हे दिल दिया है, ये वादा किया है
सनम मैं तुम्हारी रहूंगी सदा